Zindagi Shayari

Zindagi Shayari Status: Here You Will Get! All types of  Zindagi Shayari Status In Hindi. which will make your Thinking much better, What Will  You Feel On These Zindagi Shayari statuses. All Zindagi Shayari Status Is New And Best Zindagi Shayari Status.

Note :-
“यहाँ आपको हर प्रकार की एक zindagi Shayari Status  हिंदी में मिल जाएगी ! जो की बिलकुल नई हैं और इसी वेबसाइट से published हैं,यहाँ की सारी एक तरफ़ा मोहब्बत  शायरी किसी भी वेबसाइट से कॉपी नहीं की गयी हैं, यहाँ की सारी zindagi Shayari Status इस वेबसाइट के admin के द्वारा ही लिखी गयी हैं,भावना का मेल खाना बस एक संजोग हैं,”

zindagi Shayari

zindagi Shayari

  • ये जिन्दगी नहीं कहानी हैं मेरी,उसे क्या पता की दुनिया कितनी दीवानी हैं मेरी !

 

  • हम जीते जीते अपने जिन्दगी के कुछ खिस्शे ही भूल जातें हैं,और बीते हुए लम्हों में अक्सर अपने ही नज़र नहीं आतें हैं !

 

  • ये जिन्दगी हैं तुम्हारी, तो सम्हलना भी तुम्हे ही पड़ेगा,जिन्दगी के हरेक मोड़ पर चलना भी तुम्हे ही पड़ेगा !

 

  • मोहब्बत को यकीं दिलाते रहे,क्या जिन्दगी हैं और जिन्दगी में अपनों से ही नजरे छुपाते रहे !

 

  • वो क्या याद करेंगे हमें जिन्दगी में,जिन्हें अपने जिन्दगी में अपनों की ही फिक्र नहीं,लावो पर जब अपनों की ही जिक्र नहीं !

 

  • वो हमें खामखा बदनाम करते हैं,उन्हें पता ही नहीं मेरे बारे में,और हमारी झूठी खबरों को शरेआम करते हैं !

 

  • फिक्र कैसे करे हम भी अपनों की,जब उन्हें ही मेरी कोई फिक्र नहीं तो !

 

  • वक्त वक्त की बात हैं सब बदल जातें हैं,वो जिन्दगी के बीतें लम्हे,अब नजर नहीं आतें हैं !

 

  • उन्हें क्या याद होगा मेरे बारे में,क्योंकि अब जब भी मिलते तो उन्हें हमारा चेहरा अनजाना सा जो लगता हैं !

 

  • यकीन मान लिया करो कभी मेरे भी बारें में,क्योंकि कभी अपनों से झूठ बोलना मेने सिखा ही नहीं जिन्दगी में !

 

  • हर लम्हे उन्हें याद करते हैं,उन्हें ख़बर भी नहीं हैं मेरे,जिन्हें हम बेपनाह प्यार करते हैं !

 

  • उन्हें सब्र ही नहीं थी मेरी,इसलिए तो जिन्दगी ही किसी और के नाम करदी,मोहब्बत को उसने भरे मेफ़िल में नीलाम करदी !

 

  • उन्हें फिक्र ही नहीं हैं मेरी,उनके जुवा पर जिक्र ही नहीं मेरी..और कहती हैं की वो जिन्दगी हैं मेरी !

 

Shayari on life

zindagi Shayari

  • जिन्दगी हैं बदल जाएगी..तू देख तो सही एक दिन ज़रूर सम्हल जाएगी !

 

  • मोहब्बत होता हैं क्या ? उन्हें पता ही नहीं ,जो हर वक्त मोहब्बत बेसुमार करते हैं,और कहते हैं हम तो सिर्फ सच्चा प्यार करते हैं !

 

  • जिन्दगी और जिंदगानी हैं,उसे पता ही नहीं… की क्या हमारी कहानी हैं !

 

  • हम तो आज भी जिन्दगी शरे आम करते हैं,उसे पता ही नहीं जिससे हम सच्चा प्यार करते हैं !

 

  • वेब्क्त बदल जाएगा..तुझे पता ही नहीं,पर हाँ एक दिन ये जिन्दगी ज़रूर सम्हल जाएगा !

 

  • इश्क ने बर्बाद किया था मुझे,अब इश्क ही आबाद करेगा,ये जिन्दगी कितनी हसीन हैं,वो वक्त ही इसका हिसाब करेगा !

 

  • ये जिन्दगी के ख़्वाब ही तो हैं,उसे मालूम नहीं जिन्दगी में मेरे लिए मेरे ख़्वाब नबाब ही तो हैं !

 

  • मोहब्बत को गुनाह समझते हैं वो,जिन्हें पता ही नहीं की वो मोहब्बत करते हैं क्यों ?

 

  • दिल हैं जी इसीलिए धरकता हैं,उन्हें तो पता ही नहीं की कितनी मोहब्बत ये दिल करता हैं !

 

  • अजीब हैं मोहब्बत में मोहब्बत…….. नीलाम हो जाता हैं !

 

  • इंतजार कर तो सही ये वक्त तुझे खुद जिन्दगी के मायने बता देगा !

 

  • सब्र कर इंतजार कर अरे तो सुनता क्यों नहीं हैं ये जिन्दगी,तू भी यार इस वक्त से प्यार कर !

 

zindagi na milegi dobara shayari

  • जिन्दगी जी ले, नहीं तो दुबारा मिल नहीं पाएगी,ये जिन्दगी जीने के बहाने फिर लौट नहीं आयेगी !

 

  • वो जिन्दगी को ढूंढ रहे थे,और जो बची हैं जिन्दगी उनमे ही आँखे मुंद रहे थे !

 

  • जिन्दगी की आज समझ न हो तो क्या गवा दोगे,ये जिन्दगी को इश्क़ समझ कर पानी में बहा दोगे !

 

  • जिन्दगी हैं तो इसी जीने का तरीका भी मेरा ही होगा,उसे क्या पता मेरे बारे में,की मेरी जिन्दगी का सलीका भी मेरा ही होगा !

 

  • मोहब्बत को यकीन दिला रहा था,की अब वो जिन्दगी नहीं हैं मेरी,बस इतनी सी बात समझा रहा था !

 

  • उसे क्या पता अहमियत मेरी जिन्दगी का,जिसे मतलब ही न हो मेरी जिन्दगी से !

 

  • जिन्दगी हैं बदल जाएगी,उसे क्या लेना देना मुझसे,मेरे जिन्दगी हैं ये,खुद सम्हल जाएगी !

 

  • जिन्दगी में हम उसे याद करते रहे,जिसे पता ही नहीं मेरी अहमियत,और हम उसी की बात करते रहे !

 

  • एक वजह की तलाश थी मोहब्बत केलिए,और तुम वो वजह नहीं तुम्हे क्यों समझ नहीं !

 

  • जिन्दगी कुर्बान थी उससे पीछे जो मेरे ही जिन्दगी से अनजान थी!

zindagi ki sachai shayari

  • जिन्दगी में कठ्नईया बहुत हैं ,अब तुम्हे तय करना हैं की तुम्हे आगे बढ़ना हैं या पीछे !

 

  • लोगों को गुमान करने दो बिन बात के,लोगों को तुम्हारी समझ खुद वक्त के साथ आ जाएगी !

 

  • वक्त हैं बदल जाता हैं,तुझे ये न जाने क्यों समझ नहीं आता हैं !

 

  • उसे हम प्यार करते रहे,जिसे हमारी समझ ही नहीं,भला क्यों हम उसे अपना प्यार समझते रहे !

 

  • वक्त हैं बदल जाता हैं,उसे तो हमारा प्यार समझ ही नहीं आता हैं !

 

  • गुमान हैं इश्क का,फिर क्यों दिल बेमान हैं ईशक का !

 

  • जिन्दगी के हर मायेने में तुम्हे याद करते हैं,मुझे पता हैं की हम एक बेवफ़ा से प्यार करते हैं !

 

  • वक्त पर क्या गुमान करू,जब वक्त ही नहीं हैं हाथों में,तो फिर किस बात का अभिमान करू !

 

  • सब्र कर अपना वक्त ज़रूर आयेगा,यही तो पता नहीं की कब आयेगा !

 

  • जिक्र उसका जाता नहीं,माना नफ़रत हैं उसके नाम से,मगर उसे ये नफरत समझ आता नहीं !

 

  • उसे औकाद दिखाना हैं,क्या होता हैं नफ़रत और जलील उसे सब बताना हैं !

 

  • लिखना कुछ और था,और कुछ और ही लिख देता हु,और उसे समझ ही नै जिसके बारे में मैं लिख देता हु !

 

shayari zindagi

  • वो मोहब्बत का गुमान समझती हैं,खुद बेमान हैं और ओरों को भी बेमान समझती हैं !

 

  • ललक थी उसे पाने की,उसे तो कोई मतलब ही नहीं हैं,जिसे सिर्फ जल्दी हैं दसरो से इश्क लड़ाने की !

 

  • ये मेरी जिन्दगी हैं और तू क्यों फिक्र करता हैं,अरे मेरे साथ होकर भी तू क्यों औरो की जिक्र करता हैं !

 

  • जिन्दगी जीने के अलग मायेने होते हैं,जी के तो देख जिन्दगी,हर वक्त दीखते केबल इसके ही आयेने हैं !

 

  • उसके पीछे क्यों वक्त बर्बाद करते हो ज़नाब,उसे फिक्र नहीं हैं,फिर क्यों उसी के पीछे जिन्दगी ख़राब करते हो ज़नाब !

 

  • उम्मीद रख सब सही होगा,तू मंजिल के और..और सब पड़ा वही का वही होगा !

 

  • सुनते हैं वो हमें याद करते हैं,अच्छा और अजनबी होकर एक अजनबी से प्यार करते हैं !

 

  • भीड़ होगी मेरे लिए भी ज़रूर,बस इंतजार तो कर उस दिन तुम्हे भी समझ होगी मेरे बारे में ज़रूर !

 

  • वो कहते हैं हमें याद करते हैं,पर आज भी तो किसी और से ही प्यार करते हैं !

 

  • मैं उसकी तलाश में भटक रहा था,जिसे मोहब्बत भी किसी और से और तलाश भी किसी और की ही थी !

 

  • इतनी मेहनत से लिखता हु उसके बारे में,जिसे न मेरी समझ हैं और न ही मेरे मेहनत की !

 

  • जी हुजुर हम तो याद करते हैं उन्हें,एक उन्हें ही समझ नहीं की कितना प्यार करते हैं उन्हें !

 

zindagi shayari in hindi

  • जिन्दगी हैं बदल जाएगी मगर बीती हुई जिंदगानी ही याद आयेगी !

 

  • तुम क्या सोचते हो उससे मुझे फर्क नहीं पड़ता,मेरी जिन्दगी तो आज भी मेरे हिसाब से ही चलती हैं !

 

  • वो गुमनाम हैं हमसे,और कहते हैं पड़ेशान हैं हमसे !

 

  • उन्हें याद करते हैं हम,अपने जिन्दगी में हमें लगता उनके लिए वेवक्त समय बर्बाद करते हैं हम !

 

  • जिन्दगी में उन्हें क्यों याद करे एक वजह तो मिले,मोहब्बत करने को एक वजह तो मिले !

 

  • हम क्यों तबाह हो उनके पीछे,उन्होंने तो कभी वजह ही नहीं छोड़ी आपना बनाने की !

 

  • आज भी उन्हें हम याद करते हैं,यही तो बात हैं की वेवक्त उनके पीछे समय बर्बाद करते हैं !

 

  • वो हमें क्या याद करे,उन्होंने तो अपनों तक को भुला दिया !

 

  • जिन्दगी में क्या रखा हैं,मोहब्बत तो घंटा सच्चा है !

 

  • जिन्दगी हैं बदल जाएगी,उसे क्या पता मेरी जिन्दगी उससे लाख गुना सम्हाल जाएगी !

 

  • वो वक्त को बर्बाद करते हैं उसके पीछे,जिन्होंने कभी अहमियत ही नहीं दि उनकी !

 

  • वो ख़्वाब ही क्या जो पुरे न हो !

 

  • उम्मीद कर वक्त उसे उसकी औकाद खुद बता देगा,उससे सारी हिसाब कह कर लेगा !

 

zindagi sad shayari

  • हमने तो जिन्दगी को हसीन माना था,और भूल बेठे उन्हें आज कल, जिन्हें कल तक नशीब माना था !

 

  • वो घंटा याद करेंगे हमें,जिन्हें फुर्सत ही नहीं हैं अपनों को याद करने की !

 

  • मेरी बातों को गहराई से सोच लिया करो तुम्हे खुद ज़बाब मिल जाएगा मेरे बारे में !

 

  • जिन्दगी में उन्हें क्यों याद करते हो,जो तुम्हारी कभी बन ही नहीं सकी !

 

  • अगर मंजिल तक पहुच गए तो मंजिल का मजा कहा से मिलेगा !

 

  • सम्हल कर चलना आता नहीं,एक तरफा मोहब्बत हैं वो मेरी और ये बात उसे समझ आता नहीं !

 

  • भला उन्हें क्या समझाना,जिनकी सोच ही काफ़ी छोटी हो !

 

  • गुमनाम हैं पड़ेशान हैं और हैरान हैं,वो कल तक अपने हुआ करते थे,और आज हमी से अनजान हैं !

 

  • उम्र भर उनकी तलाश में,हम इधर उधर भटकते रहे,और एक वो हैं जो किसी और के लिए ही अपनी समां बिखारते रहे !

 

  • क्या उन्हें याद करे,जो कभी भी हमें याद ही नहीं करते,हमसे कभी प्यार ही नहीं करते !

 

  • समहल कर अब अपनों से ही चलना पड़ता हैं,क्या पता कोई अपना कब दगाबाज निकल जाए !

 

  • जिन्दगी को क्या समझाना हैं,जब जिन्दगी को ही नहीं पता हो की किसे अपना बनाना हैं !

 

Life Shayari

  • गुमनाम थे हम पड़ेशान थे हम,उन्हें तो पता भी नहीं थी मेरे के बारे में,और हैरान थे हम !

 

  • जिन्दगी हैं तबतक इसे बदलने दो,अबे चोट लगी हैं माना दिल में पर अभी तो सम्हलने दो !

 

  • वक्त हैं तो बर्बाद क्यों करते हो,अबे तुम इस वक्त को फिर क्यों नहीं आबाद करते हो !

 

  • ताउम्र था मैं उनकी तलाश में,जिन्हें जिन्दगी में किसी और की ही तलाश थी !

 

  • मोहब्बत को गुमान होगा माना,पर हमें क्या लेना मोहब्बत से जरा हमें भी तो समझाना !

 

  • वक्त वक्त की बात हैं सब बदल जाती हैं,बिगरी हुई जिन्दगी भी अक्सर मेरे दोस्त सम्हल जाती हैं !

 

  • क्यों पड़ेसान हो उनके लिए भला हम,जिन्हें हमारी कद्र ही नहीं !

 

  • वक्त के साथ लोग बदल जातें हैं,और एक हम हैं,जो अक्सर खुद कभी नहीं सम्हल पातें हैं !

 

  • उन्हें क्या पता होगा मेरे बारे में,जिन्होंने कभी गलत निगाहों के सिवा हमें कभी देखा ही नहीं !

 

  • उसे जिन्दगी समझने की भूल किए फिरते थे,बस इतना ही नहीं समझ पाए की वो जिन्दगी ही किसी और की थी !

 

  • गुमान क्या करे मोहब्बत पर,जब उसे ही मोहब्बत का अहसास न हो,मोहब्बत में फिर कोई जज्बात न हो !

 

  • रूठ जाते तो माना लेते उन्हें,पर अपनों से रूठे हैं वो,तो आप ही बताओ कैसे समझा लेते उसे !

 

shayari On Life

  • हमने तो जिन्दगी को हसीन माना तो,उन्होंने तो आकर जिन्दगी में और रंगीन बना दिया !

 

  • बातें दिल की उन्हें समझ नहीं आती हैं,और मोहब्बत की बातें हमें ही समझती हैं !

 

  • गुमनाम थे परेसान थे,और उन्हें ही नहीं मालुम,की कितनी मोहब्बत हैं,जो आज भी हमारी मोहब्बत से अनजान थे !

 

  • इश्क ने इश्क को बदनाम करके रखा हैं,मोहब्बत को लोगों ने जिन्दगी में नीलाम कर के रखा हैं !

 

  • उन्हें सब्र भी नहीं थी और हमारी मोहब्बत की पूरी जिन्दगी में ख़बर भी नहीं थी !

 

  • आसिया बानतें हैं,गुनगुनाते हैं,उन्हें तो समझ ही नहीं जिनके खाती हम रह ही नहीं पातें हैं !

 

  • सब्र जब उनको ही नहीं थी हमारी मोहब्बत की तो हम क्यों सब्र करे उनके मोहब्बत की !

 

  • आज भी वो किसी और को याद करती हैं,कहती हैं की वो अब किसी और से प्यार करती हैं !

 

  • तमन्ना था उन्हें पाने का,और उन्हें लगता था की हमें सब्र था उनके जिन्दगी से जाने का !

 

  • अरे वो क्या मोहब्बत समझेंगी मेरी,जो खुद अपनों का मोहब्बत न समझ सकी !

 

  • उम्मीद हम वेवजह का उनसे करते हैं,जो किसी और के उम्मीद बनने के काबिल ही नहीं !

 

  • वक्त बदल जाता हैं,पर इंसान का अक्कर पता नहीं कब जाता हैं !

 

  • क्यों उंनसे उम्मीद हम रखे भला,जिन्होनो कोई वजह ही नहीं छोड़ी हो उम्मीदों की !

 

  • गजब हैं वो कहते हैं याद नहीं करते हो बात नहीं करते हो,अबे तुम होते कौन हो जो तुमसे बात करे !

Thank You:-

“Hope! You Enjoy These Zindagi Shayari statuses In Hindi. If You Want to really appreciate our work ! then please give your feedback while using the contact form, If You get any Mistakes On these Zindagi Shayari statuses In Hindi, Then please contact Us”

“आशा हैं की आपको ये एक Zindagi Shayari स्टेटस अच्छा लगा होगा,आपसे बिनती  हैं,की अगर आपने इस Zindagi Shayari Status में  असुधिया पाई हो तो ज़रूर सूचित करे”