Dard Shayari

Dard Shayari: Here You Will Get! All types of  Dard Shayari In Hindi. which will make your Thinking much better, What Will  You Feel On These Dard Shayari. All Dard Shayari Is New And Best Dard Shayari.

Note :-
“यहाँ आपको हर प्रकार की एक Dard Shayari  हिंदी में मिल जाएगी ! जो की बिलकुल नई हैं और इसी वेबसाइट से published हैं,यहाँ की सारी दर्द शायरी  किसी भी वेबसाइट से कॉपी नहीं की गयी हैं, यहाँ की सारी Dard Shayari इस वेबसाइट के admin के द्वारा ही लिखी गयी हैं,भावना का मेल खाना बस एक संजोग हैं,”

Dard shayari

  • खुद्दार समझते हैं लोग मुझे,क्योंकि मालूम हैं मुझे की उनकी बातों पर सवाल उठाता नहीं हु मैं !

dard shayari

  • उम्मीद तो बहुत रखते थे उनपे मगर क्या पता था मुझे की वक्त के साथ बदल जाते हैं लोग,
    अपनों को अपना भी जाता नहीं पातें हैं लोग !
  • जी जान लुटाते थे उनपे,जो न जाने मोहब्बत समझाते थे किनपे !
  • हमने उनपे अपना सारा वक्त बर्बाद किया,और उन्होंने अपना ही वक्त किसी और के नाम किया !
  • हर लव्जो में उसका ही नाम रहता था,और वो थी जिसके लव्जो में किसी और का ही प्यार रहता था !
  • गुमराह कर देती हैं मोहब्बत ज़नाब,वर्ना अपने ही अपनों से नहीं बिछरते इस दुनिया में !
  • हमने तो जिक्र भी नहीं किया था मोहब्बत का,उन्होंने तो भरी मेफ़िल में मुझे ही बदनाम कर दिया !
  • वो खाश ही होंगे..मेरे पास तो नहीं हैं मगर किसी और के पास ही होंगे !
  • गुमान किस बात करे हम उनसे,जब उन्हें ही मोहब्बत किसी और से हो तो !
  • वक्त को चाहे किसी बात का गुमान रहे,मगर आइना तो सबको दिखाता सच्चाई का ही !
  • गीर कर सम्हलने की आदत हैं ज़नाब,वर्ना कईओ ने हमें युही मरने को छोड़ बेठा था !
  • वक्त और हालात बदल जाते हैं,मगर  कब ये ती पता ही नहीं हमें !

Dard bhari shayari

  • किस बात की दुश्मनी  करे हम उनसे,उन्होंने ही तो अपनी असलियत बता रखा हैं हमें !

dard shayari

  • गावार नहीं हु साहब,की किसी और की ख़ामोशी  भी न समझ सकू !
  • निगाहें उन्ही में रहती थी हमारी,और उनकी निगाहें किसी और से ही मोहब्बत की तसरीफ रखती थी !
  • हमने तो उन्हें भूलने की कई कोशिश कर डाली,मगर एक वो हैं जिनका चेहरा कभी हमारे निघाओ से हटती ही नहीं !
  • लव्जो में उनका नाम रहता था,मोहब्बत भी उनके सामने बदनाम रहता था,माना लोग पिघल जाते थे कई उनपे,
    मगर उनके लिए तो सिर्फ मेरा ही नाम रहता था,उन्हें भी हमसे मोहब्बत का ख़ुमार रहता था,ज़नाब ये झूठी मोहब्बत का,
    न जाने क्यों वो वक्त को बेसब्री से इंतजार रहता था !
  • इश्क़ भी गलत फमि से भरा रहता हैं,जिससे मोहब्बत ही नहीं, न जाने क्यों उनपे ही परा रहता हैं !
  • वक्त के साथ लोग बदल जातें हैं माना,मगर अपने बदल जाएंगे क्यों ? भला हमें भी समझाना !
  • ख़्वाब भी बेहद अजीब होते हैं,चाहे कितने भी नाकामी क्यों न मिल जाए हमें ,हम तो ख़्वाब के पीछे ही भागते हैं !
  • वक्त को क्या गुनाह बताए, जब गलती हमने ही कर बेठा था उनसे मोहब्बत की !
  • उन्हें मोहब्बत हैं मगर हमसे ज्यादा कई हमारे पैसों से !

Dard bhari shayari in hindi

  • इश्क ने इश्क को बदनाम कर डाला हैं,मोहब्बत तो आज भी लगता मकरो का जाला हैं !

  • क्या बात हैं ज़नाब, मेरी ख़ामोशी से वो हमें… जज कर रहे थे !
  • वक्त के साथ लोगों को खुद सम्हलना पड़ता हैं,लोगों के अनुशार लोगों को भी ढलना परता हैं !
  • उनसे मोहब्बत तो हमें बेपनाह थी,पर उन्हें ही मोहब्बत की समझ कहा थी !
  • हम सब्र करते रहे उनके सुधरने का,और उन्होंने तो हमें ही बिगड़ा समझ बेठी !
  • लोगों की इंसानियत और उनकी फितरह समझ नहीं आती हैं,जो लोगों को भरकाती और समझाती भी हैं !
  • इश्क ने लोगों को न जाने क्यों बर्बाद कर बेठा हैं,एक इंसानियत वाला चेहरा क्यों एक बेवफ़ा से प्यार कर बेठा हैं !
  • सब्र तो हमें बहुत हैं मोहब्बत की,बस उसे ही मोहब्बत किसी और से हैं !
  • वो हमें मोहब्बत सिखा रहे थे,और मोहब्बत ही किसी और को जाता रहे थे !
  • किसी ने सच कहा हैं वक्त बदलने परते हैं हालात बदलने को !

Dard bhari romantic shayari

  • जिम्मेदारिया बहुत हैं साहब सर पर,इसीलिए तो वक्त ही नहीं मिल पाता कभी घर पर !!

  • रूठ जातें हैं अब तो अपने भी हमसे,क्या करू सभी ख्वाइश पूरी करने को,सोहरत नहीं हैं  मेरे पास !
  • हम तो उस ख़ुदा को बड़े सिद्दत से पूजते हैं,पर वो भी कहता बिना मेहनत कभी फल नहीं मिलता !
  • उम्र के साथ तनाव भी बढ़ जाता हैं,मेरी हालात अब शायद उन्हे भी नजर नहीं आता हैं !
  • जब वो मुझे ही नहीं समझ पाए तो मेरी इंसानियत वो खाख समझेंगे !
  • गलतियाँ इंसानों से होती हैं ,मगर जो अपनी गलतियों से सिख ले,वही काबिल इंसान कहलाता हैं !
  • लोगों को  यकीं कैसे दिलाऊ की मेहनत भी किया था मेने,क्योंकि उन्हें तो सिर्फ नतीजो से प्यार हैं लोगों के !
  • उनसे अपेक्षा ही क्या रखना जो कभी अपेक्षा के लायक ही न हो !
  • शिकायत नहीं हैं मुझे किसी से,शायद मेरे ही हालात बुडे थे !
  • क्या ज़माना हैं हम अपनों को ठुकरा रहे थे,और गैरों को अपना जता रहे थे !

Thank You:-

“Hope! You Enjoy These Dard Shayari In Hindi. If You Want to really appreciate our work ! then please give your feedback while using the contact form, If You get any Mistakes On this Dard Shayari In Hindi, Then please contact Us”

“आशा हैं की आपको ये एक Dard Shayari स्टेटस अच्छा लगा होगा,आपसे बिनती  हैं,की अगर आपने इस Dard Shayari में  असुधिया पाई हो तो ज़रूर सूचित करे”