Dard Bhari Shayari In Hindi

Dard Bhari Shayari in Hindi: Here You Will Get! All types of  Dard Bhari Shayari Status In Hindi. which will make your Thinking much better, What Will  You Feel On These Dard Bhari Shayari In Hindi. All Dard Bhari Shayari In Hindi Is New And Best Shayari Status. 

Note :-
“यहाँ आपको हर प्रकार की दर्द भरी  शायरी हिंदी में मिल जाएगी ! जो की बिलकुल नई हैं और इसी वेबसाइट से published हैं,यहाँ की सारी दर्द भरी  शायरी किसी भी वेबसाइट से कॉपी नहीं की गयी हैं, यहाँ की सारी दर्द भरी शायरी इस वेबसाइट के admin के द्वारा ही लिखी गयी हैं,भावना का मेल खाना बस एक सनियोजक हैं,”



Love Dard Shayari 

Dard Bhari Shayari

  • कुछ पाने को अब रखा कहा और वो छोड़ के जाने की ही बात करते हैं !

 

  • उनसे मोहब्बत ही कैसी, जिन्हें कभी समझ ही न हो मोहब्बत की !

 

  • दर्द ने हमें बर्बाद करके छोड़ा हैं,अब तो दर्द ही नहीं जबसे हाथों में घोरा हैं !

 

  • जिन्दगी ताजुब नहीं थी हमारी,उन्होंने ही गम के सहारे छोड़ रखा हैं हमें !

 

  • वो कसमे खाती हैं जीने मरने की,मगर सिर्फ हमारे साथ नहीं सबके साथ !

 

  • उम्मीद क्या करे उनसे भला,जिन्होंने हमें कभी उम्मीद के काबिल ही न समझा हो !

 

  • बेहद मोहब्बत थी उनसे और उन्हें समझ ही नहीं हमारे मोहब्बत की !

 

  • एक माँ ही तो हैं..जो आज भी दिल की बात समझती हैं..जो आज भी हमपे मरती हैं !

 

  • क्या करे उनका ,जिसके खिस्से ही बेशुमार हो !

 

  • उम्मीद तो उनसे बेहद थी हमें,पर हमें ही नहीं पता था..की वो किसी और की उम्मीद हैं !

 

  • क्या करे उनका ज़नाब,जिनके जिक्र और फिक्र में हम ही न हो !

 

  • आज भी मिलते हैं, तो सामने हो कर भी अजनबी बनना पर जाता हैं उन्हें..
    जो कल तक मोहब्बत हुआ करती थी !

 

  • बातें उनसे अब होती नहीं हैं,पर दिल तो आज भी उन्हें ही खोजता हैं,

 

  • लाख़ बुराई हो मुझमे ..पर आज भी अपने माँ केलिए अच्छा का अच्छा ही हु !

 

  • दुनिया चाहे कितनी भी गलत क्यों न समझे मुझे,पर मेरी माँ आज भी मुझे समझती हैं!

 

  • हिम्मत हैं इसलिए तो टुटा नहीं,लोगों ने खूब झुकाने की कोशिश की,पर एक मैं था,जो झुका नहीं !

 

  • मुझे मालुम हैं की वक्त पर कौन साथ देगा मुझे,इसलिए मेने तो सबसे भरोशा ही तोड़ रखा हैं !

 

  • खामखा हम बदनाम कर रहे थे वक्त को,गलती तो हमारी थी,जो न समझ सके अपने ही वक्त को !

Dard Bhari Shayari for Boys

Dard Bhari Shayari

  • गलियों में उनसे मुलाकात हो जाती हैं..पर नजरे मिल भी जाए तो,बात नहीं होती हैं !

 

  • उम्मीद क्या करे उनसे,जिन्होंने न जाने, कितने अपनों का उम्मीद ही तोड़ा हो !

 

  • हम बेशक उनपर आज भी मरते हैं,पर उन्हें कैसे समझाए की कितना प्यार करते हैं !

 

  • उन्हें कद्र ही नहीं हमारी मोहब्बत की,और एक हम थे, जो उनपर जान कुर्बान करने की बातें करते थे!

 


  • दिल तो आज भी उनके लिए सच्चा हैं,पर उन्हें समझ ही नहीं आता की उनकी चाहत में ये दिल,
    कितना बच्चा हैं !

 

  • एक हम थे जिसने सारी हदें पार कर रखी थी उनके खातिर,और एक वो थे जिन्हें कद्र भी नहीं थी हमारी!

 

  • उम्मीद तो बेहद हैं उनके लौट आने की ! पर इस दिल को कैसे समझाए ..की वो लौट कर कभी आ ही नहीं सकती !

 

  • जिस दिन हम उन्हें भूल गए,समझ लेना मेरी जिन्दगी में अब उनकी कोई जगह बाकी ही नहीं हैं !

 

  • इश्क़ ने निकम्मा और बदनाम करके रखा था,और एक हम थे,जो इश्क को ही अपना जिम्मा समझ रखा था !

 

  • आज नहीं तो कल बदल जाऊंगा,पर मुझे विश्वाश हैं,उसे ज़रूर याद आऊंगा !

 

  • लोग हैं बदल जातें हैं,पर वो अपने,आज भी बेहद याद आतें हैं !

 

  • जिन्दगी में जब उनकी बेहद ज़रूरत थी,तभी वो छोड़ कर चली गयी !

 

  • हम क्या याद करे उन्हें ! जब उन्हें ही ज़रूरत नहीं हैं मेरी तो !

 

  • गुनाहों की बात करती हैं ! और खुद गुनाह सरे आम करती हैं,न जाने कितनो से
    वो आज भी प्यार की बात करती हैं!

 


  • हम ही पागल थे जो उसे प्यार समझ बेठे थे,उसने तो न जाने कितनो को प्यार बना बेठी था !

 

  • दिल था और गलतियाँ भी हो जाती हैं,पर उसे कैसे समझाए,जिसे हमारी गलती समझ ही नहीं आती हैं !

Romantic Shayari In Hindi

  • कल तक तो उन्हें हमपे बेहद भरोषा था,आज फिर किसकी निगाहों में, उन्होंने हमें खोजने की कोशिश करी !

 

  • जिन्दगी की हर तम्मना उन्हें पाने की करते थे हम ! आज नहीं नहीं बोल पाए..कितना डरते थे हम !

 

  • आज भी उनकी यादों में,बेहद पगला जाते हैं,और एक वो हैं..जो कभी नज़र ही नहीं आतें हैं !

 

  • वो हमारी दर्द को क्या समझेंगे भला ,जिन्हें समझ ही नहीं हमारी दर्द की कभी !

 

  • तम्मना थी उन्हें पाने का,इसलिए तो आज भी उनकी यादों में खोए रहते हैं हम ! आज भी उनसे मोहब्बत..
    थोरी न कम करते हैं हम !

 

  • जिन्दगी ही तो थी मेरी , और मुझे ही छोड़ कर चली गयी !

 

  • उसकी बातों में उसके छुपे जज्बात थे,उसके हर बातों में कभी मेरे भी बात थे ,आज दूर हैं माना,
    पल कल तो वो हमारे ही साथ थे !

 

  • कुछ मेरे जज्बातों का खता नहीं था ,उनसे अब मुलाकात भी न होगी..
    बस यही केबल हम दोनों को पता नहीं था !

 

  • ढूंढ तो ले हम भी मोहब्बत किसी और में,पर हमारी मोहब्बत
    वक्त पर कभी बदलती नहीं हैं !

 

  • जिन्दगी को बेहिसाब प्यार था हमसे ,फिर छोड़ने के वक्त क्यों भूल गया..उसे कितना लगाव था हमसे !

 

  • एक हम थे जो उसे मोहब्बत मान बेठे थे,और एक वो हैं जिन्हें मोहब्बत का मतलब तक नहीं पता !

 

  • जिन्दगी कितनी दगा बाज थी,मोहब्बत भी की हमसे,मोहब्बत में छोड़ भी हमें ही गयी !

Shayari For Girls

Dard Bhari Shayari

  • वो मुझे मोहब्बत में चलना सिखा रहा था,जिसने न जाने कबका साथ छोड़ दिया.. साथ चलने को !

 

  • उसे अपना दर्द कैसे समझाऊ,जिसे अपने दर्द के सामने किसी और का दर्द दीखता ही ना हो !

 

  • हम तो बदनाम थे मोहब्बत में,उसने तो हमें ही शरेआम कर दिया मोहब्बत में !

 

  • दर्द होता हैं आज भी उसके छोड़ जाने का,पर एक दिल हैं जो आज भी उसका इंतजार करता हैं लौट आने का !

 

  • मोहब्बत उससे बेपनाह थी..और उसे मेरी ही मोहब्बत पर शक !

 

  • क्या करे इन ख़यालो का..जो उसके जाने के बाद भी दिमाग से जाती ही नहीं !




 

  • हम तो आज भी उसका इंतजार करते हैं,क्योंकि मोहब्बत जो उससे आज भी बेसुमार करते हैं !

 

  • जिन्दगी हैं तो ही तो जींदा हैं मगर आज हम तो इस जिन्दगी से ही शर्मिंदा हैं !

 

  • वो क्या इंतजार करेंगे हमारा..जिन्हें अक्सर लड़कियाँ बदलने की आदत हैं !

 

  • गुमनाम तो हम थे उनकी मोहब्बत में,जो उनकी हर बातों को मोहब्बत ही समझ लेते थे !

 

  • क्या करे जिन्दगी ही समझ बेठे थे उन्हें,जिन्हें हमारी थोरी भी समझ नहीं !

 

  • अजीब हैं न दास्तान इश्क की,कल जो हम पे मरते थे,आज किसी और पर मरते हैं !

 

  • इश्क ने इश्क को बदनाम कर रखा हैं..,एक हमी सरीफ थे जिसने अपना दामन बचा कर रखा हैं !

 

  • वक्त वक्त की बात हैं..जब वक्त बदल जाता हैं तो लोग क्यों नहीं ?

 

  • निगाहों में मोहब्बत थी,पर किसके लिए,ये आज तक पता ही नहीं चला हमें,

Killer Shayari Dard Bhari

Dard Bhari Shayari

  • अब दर्द नहीं होता उसकी मोहब्बत का,जबसे गयी हैं सारी गम भी उसी के साथ चली गयी !

 

  • हम क्यों रोए उसके कारण,जिसे हमारी थोरी सी भी फिक्र न हो,उसकी बातों में हमारी जिक्र न हो !

 

  • दुआ करते हैं वो जहा रहे खुश रहे..पर बेशक हमें याद करते रहे,सिर्फ हमें ही प्यार करते रहे !

 

  • दुनिया कितनी मतलबी हैं,जब मोहब्बत ही नहीं था उसे,तो दिल लगाने की क्या ज़रूरत थी भला !

 

  • जिक्र थी उसकी फिक्र थी उसकी,और उसे समझ ही नहीं की क्यों हर बातों में जिक्र थी उसकी !

 

  • वो हमें क्या याद करेगी भला,जो अपनों को ही कभी याद नहीं करती,जो अपनों की ही कभी बात नहीं करती !

 

  • एक हम थे जो उसे खाश समझ बेठे थे,पता नहीं क्यों ,उसे ज़रूरत से ज्यादा नादान समझ बेठे थे !




 

  • इश्क था यही बताया करती थी,आज दिल टूटने के बाद दुसरो को समझाया करती थी !

 

  • मोहब्बत ने मोहब्बत को बर्बाद करके छोड़ा हैं,आज फिर आशिक़ ने मोहब्बत का दिल तोडा हैं !

 

  • अजीब हैं न,कल तक मुझे जो बातें समझाती थी..आज किसी और को समझाते नजर आती हैं !

 

  • वक्त  वक्त के बात हैं.. बदल जाऊंगा,तू चिंता मत कर मेरी, तेरे जाने के बाद सम्हल जाऊंगा !

 

  • वो कहती हैं मोहब्बत किसी और से हैं उसे,मैंने कब रोका हैं उसे, किसी और से मोहब्बत करने को !

 

  • दिल का क्या करे पिघल जाता हैं,और एक वो हैं जीसे कभी हमारा प्यार समझ नहीं आता हैं !

 

  • तनहा अकेले थे..उसने ही जिन्दगी में आकर और जाकर पूरी जिन्दगी ही बदल डाली !

 

  • उसे इंतजार होगी मेरे बदल जाने की,पर उसे कैसे समझाए, हम अपनी निअत और शूरत,
    कभी नहीं बदल सकते !

Dard Bhari Shayari For GirlFriend

  • जिन्दगी में हमने ही उसे उतनी अहमियत दे दि,की उसने हमारी कभी अहमियत ही नहीं समझी !

 

  • फ़र्क क्या परेगा उसकी मोहब्बत का,उसने तो न जाने कितनो से मोहब्बत करके बेठा हैं !

 

  • एक हम थे,जो उसे अपनी उम्मीद समझते थे,बेवकूफ थे,जो खुद से ज्यादा उस पर यकीन करते थे !

 

  • हमने ही वेवक्त अपना वक्त उसके कारण बर्बाद किया,जिसे पता ही नहीं,की वक्त पर उसका किसने साथ दिया !

 

  • उसने बस जीने का एक नया तरीका बता दिया,की किसी पर यकीन मत करो..जातें जातें समझा दिया !

 

  • दिन रात उसी के नाम किया करते थे..एक हम ही पागल थे,जो एक अनजाने के लिए समय बर्बाद किया करते थे !

 

  • मोहब्बत को मोहब्बत क्या समझाए,जब उसे मोहब्बत ही किसी और से हो !

 

  • कभी वक्त मिले तो हमारी यादों को भी याद किया कर लेना..शायद तुम्हे भी प्यार समझ आ जायेगा !

 

  • उसने कहा था मरते दम तक साथ नहीं छोडूंगी,तुम्हारा हाथ नहीं छोडूंगी..
    और एक आज हैं जो यही बातें किसी और से करती हैं !

 

  • अजीब दास्तान हैं मोहब्बत की,जिसे मोहब्बत की समझ नहीं उसी मोहब्बत में कुर्बान हो जातें हैं लोग !

 

  • उसका इंतजार तो आज भी करते हैं, पर उसे समझ ही नहीं की कितना उसे प्यार करते हैं !

 

  •  हम खामखा भटक रहे थे उसकी तलाश में,जीसने न जाने कबसे ढूंढ ली हैं जीना किसी और की तलाश में !




 

  • वो क्या हमसे प्यार करेगी,जीसे इतना भी नहीं पता,की प्यार कहते किसको हैं !

 

  • उम्मीद थी उनसे बहुत,मगर किस बात की पता ही नहीं था !

Dard Bhari Shayari For Student

  • जिन्दगी में कुछ बचा क्या पढने के सिवा,हमने तो हर वक्त अपनों से सिर्फ पढने को ही सुना !

 

  • हर वक्त पढने की सलाह देते हैं लोग,जैसे खुद आसमान में झंडे गाड रखे हो !

 

  • हम अपने ज़रूरत के हिसाब से पढ़ लेंगे,हमपे भोझ मत लदो इतनी,नाजुक कंधे हैं ,
    हमारे जख्म के शिकार हो जाएंगे !

 

  •  बेहिसाब मोहब्बत हैं हमें पढने,फिर क्यों पढ़े हम तुम्हारे ही कहने से !

 

  • कुछ बातें मेरी भी सुन लिया करो,मेरे सपनों को हकीकत में भी चुन लिया करो !

 

  • मैं आज नहीं तो क्या ? कल सपने देखूंगा..अरे मैं अपने आने वाले भविष्य की चुनोतियो को भी देख लूँगा !
    आने दो उन्हें..ज़मीर से निकाल कर फैक दूंगा !

 

  • कभी हमारी खामिया भी नजर अंदाज आर दिया करो ,हम बच्चे हैं अभी,कभी हमसे भी
    अच्छे से बात कर लिया करो !

 

  • एक हम हैं जो कभी हार नहीं मानते,और एक चुनोतिया हैं,जो पीछा नहीं छोड़ना जानते !

 

  • उम्मीदों की बातें हमसे मत ही किया करो तो अच्छा हैं,क्योंकि मेरे सामने आज भी तुम्हारी उम्मीद,
    एक छोटा बच्चा हैं !

 

  • ख़ावाबो को पिरोने की ताकत रखते हैं हम,बस साथ दो तो सही,आसमान छूने की हिमाकत रखते हैं हम !

 

  • वो क्या हमें समझायेंगे,जिन्हें खुद चलने के लिए दुसरो के सहारे की जुरुरत परती हो !

Shayari Dard Bhari For Waqt

  • इस वक्त ने न जाने कितनो को आबाद किया हैं,वक्त पर न आए काम, लोगों का खिस्सा ही तमाम किया हैं !

 

  • रूठ जाता मैं इस वक्त से सही..मगर अहसास था आज नहीं तो कल मेरा भी वक्त आयेगा यही !

 

  • उमीदें तो थी उनसे की वक्त पर सम्हल जाएंगे वो..पर इतना पता नहीं था,की वक्त पर सम्हल नहीं पाएंगे वो !

 

  • गुमनाम थे वक्त की तलाश में,और वक्त को हमारी ही तलाश थी !




 

  • उम्मीद क्या करे किन्ही से,सबने तो बुरे वक्त में साथ ही छोड़ा हैं !

 

  • हम बदल जाए वक्त पर ऐसी फ़ितरत नहीं हैं हमारी,वक्त पर तुम्हारे काम भी न आ सके ऐसी जुर्रत नहीं हैं हमारी !

 

  • इस वक्त ने न जाने कितनो को वक्त के चक्कर में नीलाम किया हैं,जब भी लोगों ने इस वक्त को बदनाम किया हैं !

 

  • हम तो आज भी अपने वक्त की तलाश में थे,और इस वक्त को लगता हम किसी और की आश में थे !

 

  • जिन्दगी में हमने अहमियत दि तो इस वक्त को,और सबने हमें ही वक्त के साथ छोड़ दिया !

 

  • जिन्दगी किसी की मोह्ताज नहीं थी,पर हां हर वक्त एक ही वक्ति के सर पर कभी ताज न थी !

 

  • क्या अफ़सोस करे उस वक्त का जो लौट कर ही नहीं आयेगा !

 

  • दास्ताने मोहब्बत में उसने खूब वक्त को बर्बाद किया,और वक्त ने अब उसे ही बर्बाद कर डाला !

 

  • जिन्दगी के हर मायने में तलाश थी हमें, तो सिर्फ हमारे वक्त की !

 

  • वक्त पर कोई साथ दे या न दे मगर एक ख़ुदा हैं,जो हमेशा साथ देगा ज़रूर !

 

  • खुद के होसलों ने चलना सिखाया हैं,हमें वक्त रहते ही सम्हालना सिखाया हैं,और आज हमारे ही वक्त ने
    ,लोगों को उनकी औकाद बताया हैं !

 

  • वक्त वक्त की बात हैं सब बदल जातें हैं,कल जो बुरे वक्त में साथ रहने की बातें करते थे,आज कही नजर नहीं आतें हैं,

 

Shayari Dard Bhari For BoyFriend

  • ख़्वाब समझ बेठे थे उसे,उसने तो अपने ख्वाबों में किसी और को जगह दे रखी थी ,

 

  • अजीब मोहब्बत हैं उनकी,मोहब्बत हमसे और इश्क की बातें किसी और से करते हैं,
    वो मोहब्बत करते हैं ,या केबल कहने से डरते हैं,

 

  • बातों में ही उनका जिक्र हो जाया करता था,उन्हें मालूम नहीं हैं शायद,मगर उनकी फिक्र हर बार हो जाया करता था,

 

  • उनकी जिक्र उनकी फिक्र,अब तो उनसे ज्यादा मुझे ही होने लगती हैं !

 

  • हम कैसे भूल जाए उन्हें,जिनके बिना तो आज भी हम अधूरे के अधूरे ही हैं !

 

  • हम तो तनहा अकेले थे अपने मोड़ पर,उन्होंने तो साथ चलना सिखा दिया हमें !

 

  • उसे ख़्वाब ही समझ बेठे थे हम,और उसने तो सच में ख़्वाब ही बना दिया खुदको मेरे लिए !

 

  • अजीब हैं न, कल तक उस लड़के के पीछे भागा करती थी,जो आज किसी और के पीछे भागा करता हैं !

 


  • उसे क्या समझ होगी मेरी,जिसने आज तक मुझे समझने की कोशिश ही नहीं करी !

 

  • डर लगता हैं मोहब्बत से,कही उसी की तरह कोई फिर छोड़ कर, न चल जाए हमें !

 

  • वो बड़े गुमान से इश्क के बातें करते थे,जो खुद इश्क न कर फिर वो कैसी  बातें करते थे !

 

  • हम तो उनपर बेशक कुर्बान थे ! बस वही थे जो न जाने,कबसे हमसे अनजान थे !

 

  • हम तो उसे इश्क समझ बेठे थे,जीसे कभी इश्क़ की कदर हुई ही नहीं !

Thank You:-

“Hope You Enjoy These Dard Bhari Shayari statuses In Hindi So Much. If You Want to really appreciate our work, then please give your feedback while using the contact form, If You get any Mistakes On these Dard Bhari Shayari Status In Hindi, Then please contact Us”

“आशा हैं की आपको ये दर्द भरी हिंदी स्टेटस अच्छा लगा होगा,आपसे बिनती  हैं, की अगर अपने इस Dard Bhari Shayari Status In Hindi  में  असुधिया पाई हो तो ज़रूर सूचित करे”